हैल्थ टिप्स फॉर वुमेन

     हैल्थ टिप्स फॉर वुमेन

आजकल के लाइफ स्टाइल में हम अपने आप को इतना बिज़ि कर लेते है की हम अपने आप पर ध्यान नहीं दे पाते, जिससे हमे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कुछ ऐसी स्वास्थ्य समस्याएँ होती है, जो सिर्फ महिलाओं को होती है। लेकिन महिलाएँ अक्सर इन छोटी-छोटी चीजों के बारे में लापरवाह होती हैं और जिसके कारण उन्हें बाद में समस्याओं का सामना करना पड़ता है।आजकल बीमारियां बहुत बढ़ गयी हैं और खास कर महिलाये अपने परिवार का ध्यान रखते रखते खुद पर जरा भी ध्यान नहीं देती और इस वजह से उनमे बीमारियां बढ़ रही हैं। आइये जाने कुछ ऐसे हैल्थ टिप्स जो महिलाओ के लिए बहुत जरूरी होता है:

#1. व्यायाम करना जरूरी है:

महिलाओ को ज्यादा से ज्यादा व्यायाम करने की जरुरत होती है, यदि महिलाये हफ्ते में कम से कम 2 से 3  बार भी व्यायाम करे तो वे ह्रदय विकार, शुगर, कैंसर जैसी बीमारियों से बच सकती है। व्यायाम करते रहने से आपका व्यक्तित्व भी निखरता है और साथ ही आपका स्वास्थ भी अच्छा रहेगा।

#2. तनाव से दूर रहे:

महिलाओ को बहुत से घर और बाहर के काम होते है और सभी महिलाए सभी कामो को एक ही साथ करना चाहती है। इससे महिलाओ को तनाव हो जाता है। तनाव लेने से महिलाओ को बहुत से स्वास्थ संबंधी परेशानी होती है जैसे की ब्लड शुगर, ह्रदय रोग,थाईराइड जैसी बीमारिया होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिये महिलाओ को ज्यादा तनाव नहीं लेना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए की किस भी तरह का तनाव लेने से दूर रहे। यह महिलाओ की आम संशया में से एक है जो अक्सर दिखाई देती है।



#3. आवश्यकता के अनुसार नींद लेना:

महिलाओ के लिये नींद बहुत जरुरी है। यदि महिलाओ को सुबह उठने की इच्छा नहीं होती या थकावट महसूस होती है तो पर्याप्त नींद लेनी की कोशिश करे। क्योकि पर्याप्त नींद लेने से मानसिक बीमारियों और शारीरिक संबंधी बीमारियों से बच सकती है।



#4. पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम ले :

अच्छे मात्रा में कैल्शियम लेने से आपको किडनी स्टोन और हड्डियों के और शरीरीक संबंधी बीमारिया से बच सकती है। अगर किसी महिला की उम्र 35 से कम है, तो आपको हर दिन 1000mg तक की कैल्सियम की खपत करनी चाहिए जिसके लिए आप रोज पोष्टिक पदार्थ वाले आहार और केल्सियम ले जैसे की दुध और बादाम।

#5. अपने खान पान पर ध्यान दे :

ज्यादातर महिलाएं काम काज के चक्कर में अपने खाने पिने पर ध्यान नहीं देती, अगर आपको पुरे घर का ध्यान रखना हो तो

पहले खुद का ध्यान रखना होंगा इसलिए महिलाओं को अपने स्वास्थ का पूरा ध्यान रखना होंगा। अनियमित खान-पान और तनाव की वजह से बहुत सारी महिलाओं की योनी के बाल भी उम्र से पहले हीं सफेद हो जाते हैं।  इसलिए समय पर और शरीर को लाभ पहुँचाने वाला भोजन करना चाहिए. सामान्य रूप में 50 वर्ष से अधिक उम्र हो जाने पर महिलाओं की योनी के बाल सफेद होना शुरू होते हैं।

#6.  मेडिटेशन :

आज की इस भाग दौर वाले जीवनशेली मे लोगो को अपने लिए समय नहीं है, लोग शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से थक जाते है,इससे बचने के लिए हमे ध्यान (meditation) को अपनी रोज़ के जीवन मे जगह देना बहुत ही आवश्यक है,ध्यान मानसिक शांति पाने का सबसे सरल उपाय है जब हम ध्यान करना शुरू करते है तो शुरुवात मे बहुत कठिनाई आती है लेकिन उसे सही तरीके से किया जाय तो ये बहुत ही सरल है। इसके लिए हमे अपने मस्तिष्क की गति को समझना जरूरी होता है,ध्यान हमारे मन से नकारात्मक विचारों को निकालकर शुद्ध और अच्छे विचारों को मस्तिष्क मे जगह देता है।


#7. जनन क्षमता का विचार करे :

महिलाओ को अपने आप को हेल्थी रखने के लिए बहुत से उपाय अपनाने पड़ते है और सभी बातो का ध्यान भी रखना पड़ता है जैसे की महिलाओ को 30 से 35 की उम्र तक गर्भवती होने में कोई समस्या नही होती है, लेकिन 32 से 34 साल की उम्र से ही महीला की जनन क्षमता कम होने लगती है। इसलिये अगर आप बच्चा चाहती है तो इसके बारे में डॉक्टर से सलाह ले।

#8. स्वस्थ संभोग करे:

सेक्स महिलाओ के तनाव को कम करने में सहायता प्रदान करता है और पर सेक्स करते समय ईस बात का ध्यान रखे की सेक्स सही से हो या सेक्स करते समय कसी प्रकार की परेशानी न तो आपको हो या फिर आपके पार्टनर को हो तभी कोई भी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। यदि सेक्स करने के समय आपको किसी भी प्रकार की परेशानी होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करे।

#9.अगर आपके ब्रेस्ट में रैशेज हो जाए, तो आप बेबी पाउडर का इस्तेमाल कर सकती हैं। फंगल

रैसेज की समस्या है, तो मीठा खाना कम करें।  रैशेज वाले जगह पर तुलसी के पत्तों का पेस्ट लगाने से फायदा पहुंचेगा।  हल्दी को ऐलोवेरा और दूध के साथ मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाने से भी फायदा पहुंचेगा।

#10.अपने स्तनों की खुद जाँच करते  रहें, कि कहीं उनमें ब्रेस्ट कैंसर का कोई लक्षण तो नहीं दिखाई दे रहा है।लापरवाही भरी जीवनशैली महिलाओं की अनेक बीमारियों का कारण बनती है।


#11.महिलाओ के लिए ओवरी की मसाज जरूरी होती है क्योंकि ओवरी गर्भाशय के सामने स्थित होते हैं और साथ ही ये पेल्विक हड्डियों से जुडी होती हैं। इसलिए ओवरी का मैसेज आप खुद से करे जिससे रक्त का सर्कुलेसन सही ढंग से हो।

इन उपायों को अपनाने से महीलाए स्वस्थ और खुश रह सकती है। महिलाओ का स्वस्थ और बीमारियो से मुक्त रहना बहुत जरुरी होता है, क्योंकि महिला अपने घर की करता धर्ता होती हाई और पूरा परिवार उसपर निर्भर होता है। इन हैल्थ टीप को अपना कर महिलाये स्वस्थ और खुश रह सकती है।